महाभारत के कुछ ऐसे स्थल जो आज भी स्थित है……

1. गांधार…….. आज के कंधार को कभी गांधार के रूप में जाना जाता था। यह देश पाकिस्तान के रावलपिन्डी से लेकर सुदूर अफगानिस्तान तक फैला हुआ था। धृतराष्ट्र की पत्नी गांधारी वहां के राजा सुबल की पुत्री थीं। गांधारी के भाई शकुनी दुर्योधन के मामा थे। 2. तक्षशिला……. तक्षशिला गांधार Read more…

जब आप एक हज़ार फ़ीट की ऊँचाई से इस मनोरम आर्यन सत्य को निहारेंगे तो मन ही मन पुलकित हो उठेंगे।

अमेरिका के पर्वतीय क्षेत्र ऑरेगन की एक झील में एक रहस्य सदियों से पड़ा सो रहा था। झील में बहता पानी उस रहस्य को दुनिया की आँखों से बचाए रखता था। एक दिन झील सूख गई और रहस्य अपने विशालकाय रूप के साथ प्रकट हुआ। बात उस श्रीयंत्र की हो Read more…

તમારી ભેળપુરી કે પીઝા બર્ગર કરતા ય શુધ્‍ધ..પાર્લે જી બિસ્‍કીટ…..

પાર્લે જી બિસ્‍કીટ….. ભલે લોકો ગમેતેમ કહે….. કોઇક તો કહે છે એને કુતરાય સુંધતા નથી.. એ એટલા સસ્‍તા છે કે એનુ પેકેટ હાથ મા લઇ ને નિકળતા કેટલાક માણસ શરમાય છે. !!! . વર્ષો થી એકજ કવોલીટી ના આ પાર્લેજી ને લોકો જોતા આવ્યા છે….. એનો ભાવ પણ ભારતીય ખાદ્ય Read more…

ભારતનુ રહસ્યમય રાજસ્થાનનું કુલધરા ગામ. ચાલો આજે જાણીએ આ ગામનો રહસ્યમય ઇતિહાસ…

#રહસ્યમય_ગામ_કુલધરા. રાજસ્થાન નું કુલધરા ગામ નો દીવાન જાલમસિંહ અને તે ગામમાં રહેતી એક સુંદર છોકરી પર તેની નજર પડી. છોકરીની સુંદરતા જોઈને દિવાન સાલમસિહ પર તેને મેળવવાનું પાગલપન સવાર થઈ ગયુ. તેણે નક્કી કર્યું કે કોઈપણ સંજોગોમાં કોઈ પણ રીતે આ છોકરી ને તો મારે મેળવી જ છે અને તેના Read more…

भक्त नामदेव जी और भगवान विट्ठल की सुंदर कथा।

कन्धे पर कपड़े का थान लादे और हाट-बाजार जाने की तैयारी करते हुए नामदेव जी से पत्नि ने कहा- भगत जी! आज घर में खाने को कुछ भी नहीं है। आटा, नमक, दाल, चावल, गुड़ और शक्कर सब खत्म हो गए हैं।शाम को बाजार से आते हुए घर के लिए Read more…

#હાજી_કાસમ_ની_વીજળી

વૈતરણા જહાજ, જે વીજળી અથવા હાજી કાસમની વીજળી તરીકે જાણીતું હતું, એ. જે. શેફર્ડ અને કુાં, મુંબઈની માલિકીનું જહાજ હતું. આ જહાજ ૮ ડિસેમ્બર ૧૮૮૮ ના રોજ ગુજરાતના સૌરાષ્ટ્ર નજીક વાવાઝોડાંમાં માંડવીથી મુંબઈ જતી વખતે ખોવાઈ ગયું હતું. આ દુર્ઘટનામાં ૭૪૦થી વધુ લોકો ખોવાઈ ગયા હતા. આ ઘટનાને કારણે ઘણાં Read more…

हिंदी दिवस की शुभकामना.

हम हैं हिन्दुस्थानी , हिंदी भाषा हमको प्यारी है इस भाषा पर सारी दुनियां, वारी वारी वारी है हम हैं हिन्दुस्थानी हिंदी भाषा हमको प्यारी है चारों वेदों के पन्नों में, जो गूंजें अविरामराम कृष्ण की वाणी है ये, और गीता का ज्ञान इसके शब्दार्थों की शोभा, न्यारी न्यारी न्यारी Read more…

जीवन का आनन्द उस समय तक ही रहता है, जब तक हम उस आनन्द को भोगने की स्थिति में होते हैं!

सिकंदर उस जल की तलाश में था, जिसे पीने से मानव अमर हो जाते हैं.! काफी दिनों तक दुनियाँ में भटकने के पश्चात आखिरकार उस ने वह जगह पा ही ली, जहाँ उसे अमृत की प्राप्ति हो उसके सामने ही अमृत जल बह रहा था, वह अंजलि में अमृत को Read more…

શ્રાદ્ધ પક્ષમાં કાગડા દ્વારા પીપળો કેમ ઉગાડાય છે ?…ચાલો જાણીએ…

શ્રાદ્ધની કાગવાસ પરંપરા પર્યાવરણ સાથે સીધી રીતે જોડાયેલી છે. કાગડા પ્રકૃતિના પહેરેદાર છે. ઇકો સીસ્ટમના સપોર્ટર પક્ષી છે. ભરપુર ઓક્સીજન જોઈએ તો કાગડાને શ્રાદ્ધ માં ભરપુર ખવડાવો એવી અપીલ છે. પક્ષ શરુ થઇ ગયા છે. આ દિવસો દરમ્યાન 15 દિવસના પખવાડિયામાં પોતાના મૃત સ્વજનોની તિથીના દિવસે ધાબે જઈ કાગડાને કાગવાસ Read more…

श्रीकृष्ण के इस पत्थर को हटाने के लिए सात हाथियों का लिया गया सहारा, पर नहीं हिला..

हमारी धरती पर अनेक अजूबों और रहस्यमयी तथ्यों का भण्डार है , जिनके बारे में कभी हम किताबों में पढ़ते हैं, तो कभी किसी की जुबानी सुनते हैं. सच में इन अद्भुत वस्तुओं और स्थानों के अस्तित्व पर संदेह होता है. ऐसा ही एक अजूबा है ‘कृष्णा की बटर बॉल’ Read more…

“कोर्ट मार्शल”
आर्मी कोर्ट रूम में आज एक
केस अनोखा अड़ा था
छाती तान अफसरों के आगे
फौजी बलवान खड़ा था..

आर्मी कोर्ट रूम में आज एककेस अनोखा अड़ा थाछाती तान अफसरों के आगेफौजी बलवान खड़ा था बिन हुक्म बलवान तूने येकदम कैसे उठा लियाकिससे पूछ उस रात तूदुश्मन की सीमा में जा लिया बलवान बोला सर जी! ये बताओकि वो किस से पूछ के आये थेसोये फौजियों के सिर काटने Read more…

इतिहास की वीरता की सत्य घटना।
पाटण की रानी रुदाबाई जिसने सुल्तान बेघारा के सीने को फाड़ कर दिल निकाल लिया था, और…

इतिहास की वीरता की सत्य घटना पाटण की रानी रुदाबाई जिसने सुल्तान बेघारा के सीने को फाड़ कर दिल निकाल लिया था, और कर्णावती शहर के बिच में टांग दिया था, ओर धड से सर अलग करके पाटन राज्य के बीचोबीच टांग दिया था। गुजरात से कर्णावती के राजा थे, Read more…